31 C
Patna, IN
Sunday, August 19, 2018
zara-aur-jarra-jarra-the-bihar-news-tbn-patna-bihar-hindi-news

जरा और जर्रा-जर्रा

जरा और जर्रा-जर्रा वो आकर कुछ कह गए, गिला तो तुमने फिर भी किया। सिलसिला उनकी चाहत का, तुमने कौन सा समझ लिया? वो क्या जरा सा बदले, तुमने तो...
Remove term: the solution of every problem is papa the solution of every problem is papa | The-Bihar-News

हर मर्ज़ की दवा : पिता

हर मर्ज़ की दवा : पिता इस आधुनिक युग में हमने कुछ सीखा हो या नही पर हर दिन को एक अलग दिवस के रूप...
hindi poems dedicated to father on the eve of fathers day-The-Bihar-News

फादर्स डे विशेष : पिता को समर्पित कुछ कविताओं का संकलन

फादर्स डे विशेष : पिता को समर्पित कुछ कविताओं का संकलन पिता दुनिया का ऐसा व्यक्ति हैं जो जिंदगी भर अपने परिवार के लिए मेहनत...
a-poem-angaare-the-bihar-news-tbn-patna

अंगारे

अंगारे तु मेरी दुनिया, तू ही मेरा जहां। तुझे खोजता फिरे है, बावरा मन मेरा। आंखें खोल के जो देखूँ, वो ख्वाब है तू। हर लम्हा तलाशु, वो जवाब है तू। जिसे लिख...
evening-of-life-the-bihar-news-tbn-patna

ज़िन्दगी की एक शाम फिर तेरे नाम करते हैं

ज़िन्दगी की एक शाम फिर तेरे नाम करते हैं ज़िन्दगी की एक शाम फिर तेरे नाम करते हैं हाँ, हम तुझसे अब भी प्यार करते हैं... तेरी...
tbn-patna-memories-of-love-the-bihar-news

वो यादों वाला इश्क़

वो यादों वाला इश्क़ क्या उसको भी याद होगी, उसकी वो पहली गुस्ताखी_ जब मेरे लिए, वो अपनों का दिल तोड़ आया था। सच में, क्या याद होगा उससे_ मेरी...
tbn-patna-i-love-you-forever-the-bihar-news

तुझसे प्यार था, प्यार है और प्यार रहेगा…

तुझसे प्यार था, प्यार है और प्यार रहेगा... तू चली गयी मुझे छोड़कर न जाने क्यों ? मगर अब सोचती है तेरे सारे नखरे अब कौन...

Holi Special : होली के रंग, कविताओं के संग | पढ़िए होली की कवितायेँ

गले मुझको लगा लो ए दिलदार होली में - भारतेंदु हरीशचंद्र गले मुझको लगा लो ऐ दिलदार होली में बुझे दिल की लगी भी तो ऐ यार होली में नहीं...
tbn-patna-manav-the-bihar-news

मानव

मानव मानव हूँ मैं,कृति भगवान की.. मुझे स्थिरता प्रदान करो जैसा भी हूँ मैं,मुझे स्वीकार करो.. रंग रूप संसार के,समाहित करूँ कैसे जितनी रिक्तियाँ थीं,भर दीं अब और रिक्तियाँ लाऊँ...
TBN-Patna-my-shadow-by-riecha-sambhari-the-bihar-news

My Shadow : By -Riecha Sambhari

My Shadow* I woke up in the morning A voice of Quran, temple’s bell ring In the dark room, full of air I felt myself too alone Is there...